भूपेंद्र सिंह बने आदिवासी समाज के जिलाध्यक्ष


सर्व आदिवासी समाज जिला इकाई बलौदाबाजार भाटापारा की नई कार्यकारिणी का गठन शुक्रवार को बलौदाबाजार के गोंडवाना भवन में किया गया। भूपेंद्र सिंह बने आदिवासी समाज के जिलाध्यक्ष चुना गया था। जिसमे बिलासगढ़, कसडोल, बलौदाबाजार, भाटापारा, पलारी, सिमगा सभी छह विकास खंडों के लोग सदस्यता ग्रहण करते हैं। बैठक में सर्वसम्मति से जिलाध्यक्ष और जिला कार्यकारिणी का गठन किया गया।





संरक्षक टेक सिंह ध्रुव, प्रताप सिंह नाग, एसपी ध्रुव, गांधी राम ध्रुव, ब्रिज राम पैकरा, राम ध्रुव, सर्व आदिवासी समाज के जिलाध्यक्ष भूपिंदर सिंह ध्रुवंशी, जिलाध्यक्ष भानु ध्रुव, मनोहर मंडावी, नंदकुमार पैकरा, सचिव थानू ध्रुव -सेक्रेटरी, बृजभान जगत, नरसिंह नेताम, अभय ध्रुव कोषाध्यक्ष दयारामद्रुवा को नियुक्त किया गया। कार्यकारी सदस्य मूरित कुमार ध्रुव, तिरिथ मरकाम, द्रोण ध्रुव, दशरथ ध्रुव, देवी प्रसाद ध्रुव, राज कुमार ध्रुव, कुमार ध्रुव, तिजराम ठाकुर, नेमीचंद ध्रुव, मनोहर ध्रुव, रामायण ध्रुव, संतोष नेताम, मोतीलाल मंडावी, धीरेश , जिला मीडिया प्रभारी काशी मंडावी, दौसिंग गोंड, हेमंत ध्रुव, सर्व आदिवासी समाज युवा मंडल संरक्षक अमर मंडावी, जिला अध्यक्ष नेतराम ध्रुव, जिला उपाध्यक्ष निलसिंग जगत, रवि धु्रव, अशोक मर्कम, भुमका पुजारी संग्राम सिंह मंडावी, पूनाराम मंडावी, केसरी कुंवर किया गया।





सर्व आदिवासी समाज जिला इकाई बलौदाबाजार भाटापारा की नई कार्यकारिणी का गठन शुक्रवार को बलौदाबाजार के गोंडवाना भवन में किया गया। भूपेंद्र सिंह बने आदिवासी समाज के जिलाध्यक्ष चुना गया था।




इस अवसर पर सर्व आदिवासी समाज के उपाध्यक्ष कमलेश ध्रुव, संयुक्त सचिव सतीश नेताम, डॉ। एलएस ध्रुव, डॉ। बीएस ध्रुव, उत्तम नागवंशी, नोहरी ध्रुव, चंद्रशेखर ध्रुव, चन्नू ध्रुव, गणेश ध्रुव, कैलाश ध्रुव, विजेंद्र मर्चम। देवेश ध्रुव, डेमू सैकड़ों सामाजिक नेता मौजूद थे, जिनमें ध्रुव, टिकेश्वर ध्रुव शामिल थे।





जिला प्रमुख ने कहा कि जिले में सबसे बड़ी समस्या भूमि है, क्योंकि अधिकांश कंपनियां बलौदाबाजार जिले में हैं। आदिवासियों के नाम पर वे अतिक्रमणकारी जमीन पर बैठे हैं और कई योजनाओं का लाभ उठा रहे हैं। साथ में, जिले की सामाजिक विरासत मावली माता, सिंगारपुर और वीर भूमि सोनाखन को संरक्षित करने पर जोर दिया गया।