आदिवासी यूबाओ लोगो ने BJP के नेता बाबूलाल मरांडी का पुतला जलाया..


Jharkhand news: आदिवासी यूबाओ लोगो ने BJP के नेता बाबूलाल मरांडी पुतला को जलाया। BJP के नेता बाबूलाल मरांडी द्वारा आदिवासी समाज के प्रति दिए गए बयान को लेकर आदिवासी समाज में फेर से गुस्सा की लहर उठा है। आदिवासी समाज जन्म से हिंदू है, मरांडी ने यह बयान देने के बाद कि आदिवासी युवाओं ने नाराज हुए और चाईबासा पोस्ट ऑफिस चौक पर BJP नेता बाबूलाल मरांडी का पुतला जलाया।










YOUR EXISTING AD GOES HERE




आदिवासी युवा मंजीत हांसदा ने कहा कि मरांडी ने अपनी राजनीति के प्रकाश में आदिवासी विरोधी बयान देकर पूरे आदिवासी समाज का अपमान किया है। आदिवासियों को हिंदू कहना बेहद शर्मनाक है और हिंदू धर्म हमारी मूल पहचान और मानसिक रूप से गुलाम बनाने के लिए भाजपा, आरएसएस का षड्यंत्रकारी अभियान है। यह आदिवासी समाज को समाप्त कर देगा जिसने हजारों वर्षों से अपनी स्वतंत्र सांस्कृतिक, सामाजिक, सभ्यता और आदिवासी पहचान को खत्म किया जा रहा है। आदिवासियों को भी हिंदू धर्म में मजबूर किया जा रहा है क्योंकि उनके संवैधानिक अधिकारों को समाप्त नहीं किया जा सकता है जब तक कि आदिवासी आदिवासी हैं। यदि आदिवासी हिंदू हो जाता है तो अनुसूचित क्षेत्र को गैर-अनुसूचित क्षेत्र घोषित किया जा सकता है।









उन्होंने कहा कि संविधान के धारा 244 के तहत आदिवासियों को दी गई पांचवीं और आठवीं अनुसूची के विशेषाधिकार खत्म हो जाएंगे। हम आदिवासी लोग बाबूलाल मरांडी के बयान का कड़ा विरोध करते हैं और मरांडी से कहना चाहते हैं कि वे आदिवासी समाज को गर्त में न धकेलें। इस आदिवासी यूबाओ लोगो ने BJP के नेता बाबूलाल मरांडी का पुतला जलाया। रायंस समद, सनातन पिगुवा, अजीत पूर्ति, गुरा सिकू, नारायण कांडेयांग, अशोक मुंदरी, बिरसिंह बलमुचु, जय देवगम, सिकंदर बुधियौली, मदन बारी, बालकिशन देवगम, संजय मुंदरी आदि उपस्थित थे।