SBSTC bus धोखाधड़ी विरोध ,जंगलमहल जिलों में सड़कों को अवरुद्ध।


West Bangal:- SBSTC bus धोखाधड़ी विरोध ,पंक्ति के धर्मवादी जंगलमहल जिलों में सड़कों को अवरुद्ध करते हैं। 6 फरवरी, 2021। कमोबेश यही तस्वीर जिले में देखी गई है।दोपहर से कोलकाता के सारी धर्म महासम्मेलन में जाने के लिए तैयार हो जाइए। यह सब गड़बड़ हुआ है। रात्रि भोजन को दोपहर तीन बजे तक खाया जा चुका है। सर्दियों से निपटने के लिए, जिसके पास भी सर्दियों के कपड़े हैं, उसे अपने बैग में रखना होगा।





स्ट्रीट फूड के लिए कुछ सूखे खाद्य बैग में। कलकत्ता जाने के लिए थोड़ा और उत्साह था। क्योंकि कलकत्ता जाना अन्य यात्राओं से थोड़ा अलग था। यह कलकत्ता जाने वाला धर्म सम्मेलन है।





अपने स्वयं के राष्ट्रीयता के अस्तित्व को बचाने का संघर्ष। इस कोलकाता में जाकर सारी धर्म कोड प्राप्त करें। जिनको जितना मिला आर्थिक सहयोग उहसने दिया।





पश्चिम बंगाल सरकार के परिवहन विभाग की SBSTC bus कोलकाता जाने वाली थी। निर्धारित SBSTC bus एक घंटे, दो घंटे, तीन घंटे और चार घंटे के लिए आवंटित समय के इंतजार के बाद भी नहीं आई।





आसमान में बिजली चमकती है, बादलों की गर्जना सुनाई देती है, रात में सर्दी का जोरदार काट। सब कुछ के इंतजार के बावजूद, अनगिनत संथाल लोगों ने बस के कोने पर बैठकर रात बिताई। कई रात एक या दो बसें आती हैं।





सुबह तक कहीं भी कोई बस नहीं आई जिससे कि लोग गुस्से में सड़क पर उतर आए और सड़क पर जाम लगा दिया।उनका दावा है कि इस असामान्य घटना के पीछे कोई साजिश है।बांकुरा ने पुरुलिया के विभिन्न छोरों पर सड़कों को अवरुद्ध करना शुरू कर दिया।





यह ज्ञात है कि कई मामलों में नाकाबंदी दोपहर तक जारी रही। कई लोगों ने शिकायत की कि पश्चिम बंगाल सरकार के राज्य परिवहन विभाग ने आज कोलकाता में रानी रस्मोनी रोड पर लाखों संथालों के लिए एक सुनियोजित "साड़ी धर्म" सम्मेलन आयोजित किया।





इसका परिणाम अगले विधानसभा चुनावों में भुगतना होगा क्योंकि कार का किराया अग्रिम धनराशि के साथ भी समय पर नहीं दिया गया है।एक ओर, सरकार ने कहा है कि पिछली सरकार ने आदिवासियों के लिए कुछ नहीं किया। अगर ऐसा है तो आज यह स्थिति क्यों है? सरकार को अपनी मांगें मनवाने के लिए आदिवासियों को इतनी बड़ी समस्या का सामना क्यों करना पड़ रहा है।कई और लोग भी कहने लगे हैं, जो आज आग से खेलते हैं